Friday, May 1, 2009

धौलाविरा नगर ....

धौलाविरा नगर प्राचीर द्वारा संरक्षित समानांतर चतुर्भुज के आकार में था ।
यह नगर आज गुजरात के कच्छ जिले के भचाऊ तालुका में एक छोटा सा गाँव है ।
इसकी खोज १९६७-६८ में जे पी जोशी ने की थी ।
यहाँ से हड़प्पा सभ्यता के तिन चरणों का पता चलता है ।
यहाँ से घोडे के अवशेष एवं जानवर की कांस्य आकृति प्राप्त होती है ।
हड़प्पा सभ्यता का एकमात्र स्टेडियम यही से प्राप्त हुआ है ।
यहाँ की सबसे आश्चर्यजनक वस्तु विशाल जलाशय है ।
यह नगर तिन भागों में विभाजित था -दुर्ग ,मध्य तथा निचला नगर ।

6 comments:

Tarun said...

jaankari acchi hai lekin thora aur detail dete to jyada maja aata.

Pyaasa Sajal said...

bahut achhi koshish hai ye blog aapka :)

http://pyasasajal.blogspot.com/

sm said...

good information like your blog.
your heading is great i agree with you.

PGDCA University of Allahabad said...

jaankari k liye dhanyavaad

हिमांशु पाण्डेय said...

Jaankari k liye dhanyavaad

अनिल कान्त : said...

Interesting!!